डेब्ट फंड्स क बारे में अधिक जाने|

Video
कैल्कुलेटर

म्यूचुअल फंड सही है?

इक्विटी म्यूचुअल फंड्स शेयर खरीदते हैं जबकि डेट फंड्स अपने पोर्टफोलियो के लिए निश्चित आय वाली प्रतिभूतियाँ, जैसे बॉन्ड्स, खरीदते हैं। बॉन्ड्स जैसी प्रतिभूतियाँ कॉर्पोरेट्स द्वारा जारी की जाती हैं जैसे बिजली कंपनियाँ, बैंक, हाउसिंग फाइनैंस कंपनियाँ और सरकार। नई परियोजनाओं के लिए कर्ज़ लेने के बजाय वे जनता (निवेशकों) से पैसे जुटाने के लिए निर्धारित ब्याज दर वाले बॉन्ड्स जारी करते हैं। बॉन्ड्स उन निवेशकों को समय-समय पर निर्धारित ब्याज का भुगतान करने का वादा करते हैं जो उन्हें खरीदते हैं। 

जब निवेशक कुछ वर्षों की मच्योरिटी वाले बॉन्ड्स खरीदते हैं, तो वे उतने वर्षों के लिए जारीकर्ता (जैसे ABC पावर लिमिटेड) को अपनी रकम उधार देते हैं। ABC अपने निवेशकों द्वारा उसके बॉन्ड्स में निवेश की गई रकम (=ABC को उधार दी गई रकम) के बदले उन्हें इस समय के दौरान मियादी ब्याज का भुगतान करने का वादा करती है। ABC होम लोन लेने वाले ग्राहक की तरह कर्जदार होता है। निवेशक (आपकी रकम निवेश करने वाला म्यूचुअल फंड) ABC का ऋणदाता (उधार देने वाला) है, ठीक वैसे ही जैसे बैंक होम लोन लेने वाले ग्राहक का ऋणदाता होता है। 
 

डेट फंड्स आपकी रकम को विभिन्न बॉन्ड्स और अन्य निश्चित आय वाली प्रतिभूतियों में निवेश करते हैं।

397
मैं निवेश के लिए तैयार हूँ