अनियमित/अनरेगुलेटेड जमा योजनाएं क्या होती हैं?

अनियमित/अनरेगुलेटेड जमा योजनाएं क्या होती हैं?
कैल्कुलेटर

म्यूचुअल फंड सही है?

ऐसी कई घटनाएं हुई हैं जिनमें भोले-भाले निवेशकों को निवेश योजनाओं में फुसलाकर शामिल किया गया है, जो बाजार में उपलब्ध योजनाओं की तुलना में बिना किसी जोखिम के ज़्यादा रिटर्न देने का वादा करती हैं। ऐसी अनियमित/अनरेगुलेटेड निवेश योजनाओं को पोंज़ी स्कीम कहा जाता है और इनमें बहुत ज़्यादा जोखिम होता है। अनियमित/अनरेगुलेटेड जमा योजनाएं किसी व्यक्ति, व्यक्तियों के समूहों या बिज़नेस के लिए किसी कंपनी द्वारा शुरू की गई जमा योजनाएं हैं जो भारत में सभी प्रकार की जमा योजनाओं की देखरेख के लिए उत्तरदायी नौ रेगुलेटरी ऑथोरिटीज़ में से किसी के तहत रजिस्टर्ड नहीं हैं। ये योजनाएं आमतौर पर बहुत कम या बिना जोखिम के बहुत ज़्यादा रिटर्न देने का वादा करती हैं। 

ऐसी कई अनियमित/अनरेगुलेटेड जमा योजनाओं में हज़ारों निवेशकों ने अपनी मेहनत की कमाई गंवा दी है और इस वजह से सरकार को मजबूरीवश 2019 में अनियमित/ अनरेगुलेटेड जमा योजना प्रतिबंध विधेयक पारित करना पड़ा। यह अधिनियम नियमित/रेगुलेटेड जमा योजनाओं की लिस्ट दर्शाता है और इसमें म्यूचुअल फंड्स और पोर्टफोलियो मैनेजमेंट सर्विसेस (पीएमएस) जैसे निवेश विकल्प भी शामिल हैं जिन्हें परंपरागत रूप से जमा योजनाओं का हिस्सा नहीं माना जाता है।

जब आपको किसी निवेश विकल्प का पता चलता है जो बहुत ही कम जोखिम के साथ बहुत ज़्यादा फायदेमंद लगता है, तो याद रखें कि जोखिम और रिटर्न हमेशा एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। दुनिया में कुछ भी मुफ़्त में नहीं मिलता और कम रिटर्न देने वाले निवेश विकल्प की तुलना में ज़्यादा रिटर्न देने वाले निवेश विकल्प में हमेशा ज़्यादा जोखिम होगा। अनियमित जमा योजनाओं का उद्देश्य छोटे निवेशकों को धोखा देना है जो जोखिम और रिटर्न के बीच के सम्बन्ध को नहीं समझते हैं। ये धोखाधड़ी वाली योजनाएं आकर्षक रिटर्न वाली योजनाओं में मौजूद जोखिम के बारे में बताए बिना निवेशकों को फुसलाकर शामिल करती हैं।  

अनियमित/अनरेगुलेटेड निवेश का सबसे बड़ा जोखिम यह है कि रिटर्न की कोई गारंटी नहीं होती है और इस बात की बहुत ज़्यादा संभावना है कि योजना के प्रमोटर योजना के तहत किए गए वादे अनुसार शायद भुगतान न करें। क्योंकि योजना लिस्ट में दी गई नौ रेगुलेटरी ऑथोरिटीज़ में से किसी के तहत रजिस्टर्ड नहीं हैं, इसलिए यदि योजना की धोखाधड़ी का पता चलता है तो आप अपने पैसों की वसूली के लिए उनसे संपर्क नहीं कर सकते हैं।

अनियमित/अनरेगुलेटेड जमा योजना विधेयक 2019 में ऐसी जमाराशियों को लेना, जमाकर्ताओं को वादे अनुसार दिए जाने वाले भुगतानों में धोखाधड़ी करना या ऐसी योजनाओं का प्रचार करना भी अवैध माना गया है। ऐसे अपराधों को दंडनीय माना गया है। इसलिए अगली बार जब आप ऐसे किसी निवेश योजना के बारे में सुनें जो आपको कहीं और से मिलने वाले रिटर्न की तुलना में बहुत ज़्यादा रिटर्न देने का वादा करती है और जोखिम भरी नहीं लगती है या कुछ समय में आपके पैसों को दोगुना करने का वादा करती है या बिना किसी रिस्क के आपको करोड़पति बनाने का वादा करती है, तो पता करें कि योजनाओं को कौन चला रहा है, यदि योजना यहाँ चित्र में दिए गए किसी रेगुलेटरी अथॉरिटी के साथ रजिस्टर्ड है और उस योजना से जुड़ी खबरें ढूंढें।  

292
मैं निवेश के लिए तैयार हूँ