किसी व्यक्ति को ETF का चुनाव कैसे करना चाहिए?

किसी व्यक्ति को ETF का चुनाव कैसे करना चाहिए?
कैल्कुलेटर

म्यूचुअल फंड सही है?

अन्य निवेशों की ही तरह, ETF का चुनाव करना आपकी आवश्यक एसेट ऐलोकेशन, वित्तीय लक्ष्य, जोखिम की वरीयता और समय अवधि पर निर्भर करता है। ETF का चुनाव करना इस पर निर्भर करता है कि आप अपने पोर्टफोलियो में ETF को शामिल करके किस प्रकार की एसेट ऐलोकेशन हासिल करना चाहते हैं क्योंकि ETF विभिन्न प्रकार की एसेट क्लासेज़, जैसे इक्विटीज़, बॉन्ड्स, रीयल एस्टेट, कमोडिटीज़, के लिए उपलब्ध हैं। पहले ETF के लिए एसेट क्लास तय करें।

यह तय करें कि आप किस प्रकार की विविधता चाहते हैं और आप किस इंडेक्स को ट्रैक करना चाहते हैं। किसी व्यापक बाज़ार इंडेक्स को ट्रैक करने वाला ETF सबसे कम जोखिम के साथ अधिकतम विविधता हासिल करने के लिए उपयुक्त है। अगर आप जोखिम लेना चाहते हैं और बाज़ार के विशेष क्षेत्रों, सेक्टर्स या देशों तक पहुँच प्राप्त करना चाहते हैं, तो एक विशिष्ट ETF चुनें।

वह ETF आपको क्या पहुँच प्रदान करेगा, इसे समझने के लिए ETF का पोर्टफोलियो देखें। आप जिस एसेट क्लास और बाज़ार के क्षेत्र को फ़ॉलो करना चाहते हैं, उसके भीतर कम ट्रैकिंग एरर वाले ETF चुनें। कम कारोबार वाले ETF से दूर रहें क्योंकि उनके बोली/मांग प्रसार व्यापक होते हैं और यह आपके ट्रेडिंग से जुड़े खर्चों को बढ़ाएगा, जिससे ETF से आपका रिटर्न कम हो जाएगा। बाज़ार के सीमित क्षेत्रों को ट्रैक करने वाले या एसेट्स के कम स्तरों (AUM) वाले ETF में नकदी कम होती है और वे ऐसी कीमत पर कारोबार करते हैं जो उनकी अंतर्निहित NAV के अनुरूप नहीं होती। ऐसे ETF ढूँढें जो अपनी NAV के करीब कारोबार करते हैं।

292
मैं निवेश के लिए तैयार हूँ