डायरेक्ट प्लान में कैसे निवेश करना चाहिए

Video
कैल्कुलेटर

म्यूचुअल फंड सही है?

कुछ लोगों को म्यूचुअल फंड्स आसान लग सकते हैं जबकि दूसरों को उन्हें समझना मुश्किल लग सकता है। हो सकता है नए निवेशक पूरी तरह यह न समझ सकें कि म्यूचुअल फंड कैसे काम करता है और वह किस किस्म के जोखिमों का सामना करता है। चूँकि आज बाज़ार में हज़ारों म्यूचुअल फंड स्कीम्स उपलब्ध हैं, इसलिए उन निवेशकों को ऐसे कुछ फंड्स चुनने में मुश्किल हो सकती है जो उनके लिए सबसे ज़्यादा सही होंगे। 

हालांकि, कई निवेशक हैं जो बाज़ार और ऐसे कई उत्पादों से परिचित हैं जो म्यूचुअल फंड्स जैसी मार्केट सिक्योरिटीज़ में निवेश करते हैं। ऐसे निवेशकों के पास म्यूचुअल फंड्स में निवेश करने का पर्याप्त अनुभव होगा या उन्होंने इस विषय का विस्तृत अध्ययन किया होगा। इन निवेशकों को म्यूचुअल फंड्स, उनकी श्रेणियों और उप-श्रेणियों के काम करने के तरीके, इन फंड्स में जोखिम-रिटर्न के उतार-चढ़ाव और इनकी निवेश रणनीति के बारे में ठीक-ठाक जानकारी होती है। वे निवेश करने के लिए कुछ स्कीम्स को चुनने और अपने निवेश की निगरानी करने के लिए खुद अपनी रिसर्च कर सकते हैं। ऐसे निवेशक म्यूचुअल फंड्स के डायरेक्ट प्लान में निवेश कर सकते हैं। उनके लिए डायरेक्ट प्लान में निवेश करना सही है क्योंकि उन्हें अपने स्कीम के चुनाव पर भरोसा होता है और रेगुलर प्लान्स के मुकाबले डायरेक्ट प्लान्स में व्यय (एक्सपेंस) शुल्क कम होता है।

डायरेक्ट प्लान्स में निवेश करने के लिए, कोई व्यक्ति म्यूचुअल फंड के कार्यालय में आवेदन जमा कर सकता है या उसकी वेबसाइट पर सीधे निवेश कर सकता है। निवेशक किसी म्यूचुअल फंड एग्रीगेटर या म्यूचुअल फंड रजिस्ट्रार की वेबसाइट के माध्यम से डायरेक्ट प्लान्स में निवेश कर सकते हैं।  चाहे रेगुलर प्लान हो या डायरेक्ट प्लान, म्यूचुअल फंड्स में निवेश करना बहुत आसान है!

292
मैं निवेश के लिए तैयार हूँ