ETFs में निवेश करने के जोखिम क्या हैं?

ETFs में निवेश करने के जोखिम क्या हैं?
कैल्कुलेटर

म्यूचुअल फंड सही है?

ETFs कम लागत में डाइवर्सिफिकेशन के मुनाफ़े देते हैं। इन मुनाफों के बावजूद, हर किसी को ऐसे निवेश में शामिल जोखिमों पर ध्यान देना चाहिए। पहली बात, मार्केट में कई तरह के ETFs मौजूद हैं जिनमें अंतर्राष्ट्रीय और असाधारण ETFs शामिल हैं। इसलिए इन ETFs से जुड़े राजनैतिक जोखिम या लिक्विडिटी के जोखिम से बचने के लिए आपकी ज़रूरत के मुताबिक सही ETF चुनना महत्वपूर्ण है। ETFs की बुनियादी होल्डिंग्स के अनुसार उनमें प्रतिपक्ष और मुद्रा का जोखिम भी शामिल हो सकते हैं।

ETFs किसमें निवेश करते हैं और वे पोर्टफोलियो में होने वाले कैपिटल गेन कैसे बांटते हैं, इस पर निर्भर करते हुए ETFs के अलग-अलग स्ट्रक्चर हो सकते हैं। यह निवेशक के लिए टैक्स की देनदारी को प्रभावित कर सकता है। उदाहरण के लिए, इन-काइन्ड एक्सचेंजों का उपयोग करने वाले ETFs वास्तविक निवेशकों को कैपिटल गेन नहीं देते जबकि जिन ETFs में डेरिवेटिव्स या कमोडिटीज़ होती हैं उनकी जटिल संरचना और टैक्स देनदारी हो सकती है। अगर निवेशक को इन चीज़ों की जानकारी न हो, उसे अचानक झटका लग सकता है। ETFs के डाइवर्सिफिकेशन के मुनाफों के बावजूद उनमें शेयरों और दूसरे म्यूचुअल फंड्स की तरह बाज़ार का जोखिम होता है।

ETF जितने व्यापक इंडेक्स को ट्रैक करेगा, उसका मार्केट रिस्क उतना कम होगा लेकिन उसे पूरी तरह से समाप्त नहीं किया जा सकता। ETFs ट्रैकिंग एरर का सामना करते हैं यानि उनका रिटर्न बुनियादी इंडेक्स से अलग होगा क्योंकि एक ETF में कुछ ऐसे खर्च शामिल होते हैंजिनका सामना इंडेक्स नहीं करता।

292
मैं निवेश के लिए तैयार हूँ