म्यूच्यूअल फंड्स बनाम शेयर्स: फर्क क्या है?

Mutual Funds vs. Shares: What’s the difference?
कैल्कुलेटर

म्यूचुअल फंड सही है?

आप अपनी सब्जियां कहाँ से लाते हैं? क्या अपने घर के आँगन में उगाते हैं या अपने ज़रुरत मुताबिक मंडी या सुपरमार्केट से लाते हैं? ताज़ा और पौष्टिक सब्जियों के लिए अपने आँगन में उन्हें उगाने से अच्छा और क्या हो सकता है लेकिन बीज, खाद, पानी देना, कीटनाशक का छिड़काव, आदि कार्यों में प्रयास और वक़्त दोनों आपको ही देना पड़ता है| दूसरा विकल्प ये कि आप बगैर किसी मेहनत के, मंडी या दुकान से विविध प्रकार की सब्जियों में से चुनाव कर ज़रुरत मुताबिक सब्जियां खरीद लेते है|

इसी प्रकार, संपत्ति का सृजन आप सीधे शेयर बाज़ार में उम्दा कंपनियों में निवेश द्वारा या म्यूच्यूअल फंड्स के माध्यम से निवेश द्वारा कर सकते हैं| हमारे द्वारा खरीदी गयी कंपनियों के स्टॉक राशि से कंपनियां अपना कारोबार विस्तृत करती हैं और निवेशकों के लिए उनके निवेश की मूल्य वृद्धि होती है|

बाज़ार में सीधे निवेश में अपेक्षाकृत जोखिम ज्यादा है| आपको स्टॉक और उसके वर्ग विशेष पर सारे मालूमात हासिल करने होते हैं और फिर आप अपना चुनाव करते हैं| स्टॉक एक्सचेंज (शेयर बाज़ार) में सूचीबद्ध हज़ारों कंपनियों में से कुछ का चुनाव भारी काम है और यही नहीं, चुने हुए स्टॉक्स में निवेश के बाद उनके प्रदर्शन पर निगरानी भी रखनी पड़ती है|

म्यूच्यूअल फंड्स में स्टॉक का चुनाव फंड प्रबंधक करते हैं जो इस कार्य में निपुण हैं| आपको सिर्फ उस फंड के प्रदर्शन की जानकारी से सरोकार है, उस फंड के प्रत्येक स्टॉक के प्रदर्शन से नहीं| म्यूच्यूअल फंड्स आपको निवेश में लचीलापन देते हैं जैसे वृद्धि के साथ/लाभांश विकल्प, टॉप-अप, सुनियोजित निकासी/ स्थानान्तरण या बदली आदि ऐसी सुविधायें जो सीधे स्टॉक निवेश में नहीं होती हैं| अलावा इसके, म्यूच्यूअल फंड्स SIP के माध्यम से छोटे छोटे नियमित निवेश कर बाज़ार के उतार-चढ़ाव और अस्थिरता पर अंकुश रखने में कारगर साबित होते हैं|    

286
मैं निवेश के लिए तैयार हूँ