निवेशक की स्थिति को नाबालिग से बालिग में बदलने की प्रक्रिया क्या है?

निवेशक की स्थिति को नाबालिग से बालिग में बदलने की प्रक्रिया क्या है? zoom-icon
कैल्कुलेटर

म्यूचुअल फंड सही है?

नाबालिग व्यक्ति अपने माता-पिता/अभिभावकों के माध्यम से म्यूचुअल फंड्स में निवेश कर सकते हैं। इस मामले में नाबालिग व्यक्ति पहला और एकमात्र खाता धारक होता है और एक वास्तविक अभिभावक (पिता/माता) या कानूनी अभिभावक (अदालत की ओर से नियुक्त) उसका प्रतिनिधित्व करता है। वास्तविक अभिभावक द्वारा प्रतिनिधित्व किया गया नाबालिग व्यक्ति 18 वर्ष की आयु पूरी होने पर बालिग होता है जबकि कानूनी अभिभावकों द्वारा प्रतिनिधित्व किए जाने वाले नाबालिग व्यक्ति 21 वर्ष की आयु होने पर बालिग होते हैं।

नाबालिग व्यक्ति के बालिग होने पर, आपको एकमात्र खाता धारक की स्थिति को नाबालिग से बालिग में बदलने के लिए आवेदन करना होगा या अन्यथा उस खाते में आपके भावी ट्रांज़ैक्शन्स (SIP/SWP/STP) को निलंबित कर दिया जाएगा। आम तौर पर म्यूचुअल फंड्स पहले से ही आवश्यक दस्तावेज़ जमा करने के लिए अभिभावक और नाबालिग व्यक्ति को एक नोटिस भेजते हैं। अभिभावक को, बैंक अधिकारी द्वारा विधिवत् सत्यापित, नाबालिग व्यक्ति के हस्ताक्षर के साथ स्थिति को बालिग में बदलने के लिए आवेदन करना होगा। आवेदन के साथ नाबालिग व्यक्ति का बैंक अकाउंट रजिस्ट्रेशन फ़ॉर्म और KYC भी जमा करना ज़रूरी है।

अब एकमात्र खाता धारक (बालिग व्यक्ति) को टैक्स-संबंधी ज़िम्मेदारियाँ पूरी करनी होंगी। जब तक कोई बच्चा नाबालिग रहता है, तब तक उस बच्चे के अकाउंट में पूरी आमदनी और लाभ को माता-पिता/अभिभावक की आमदनी में जोड़ दिया जाता है और माता-पिता/अभिभावक लागू टैक्स का भुगतान करता है। जिस साल नाबालिग व्यक्ति बालिग होता है, उस साल से उसे एक अलग व्यक्ति माना जाएगा और वह उतने महीनों के लिए टैक्स का भुगतान करेगा उस साल जितने महीने से वह बालिग होगा।

283
मैं निवेश के लिए तैयार हूँ